Blogs

बड़प्पन का भाव

रामायण में दिखाए गए 1 एपिसोड को देखकर मेरे मन में यहभाव आया किहमें हमेशा सभी के प्रति बड़प्पन का भाव रखना चाहिए !उसे हम इस प्रकार से समझ सकते हैं-कपि राज बाली से भयभीत सुग्रीव किष्किंधा के एक पर्वत की गुफा में जामवंत जी, नल एवं नील के साथ बैठे हुए थे! उनके एक ...

कैसे करें ज्ञान की रचना

कल मैंने अपनी उच्च कक्षा के विद्यार्थियों पर एक छोटा सा प्रयोग किया। मैंने सभी विद्यार्थियों को अचानक से पूछा  अ से तो सभी विद्यार्थियों का एक साथ जवाब था अनार फिर मैंने पूछा आ से तो सभी ने फिर से जवाब दिया आम मुझे यह देखकर और सुनकर बहुत आश्चर्य हुआ कि किसी भी ...

टी.वी. एवं मोबाइल संस्कृति

टी.वी. और मोबाइल संस्कृति आधुनिक सभ्यता की देन  है l मनोरंजन के वर्तमान समय में यह उत्तम साधन है प्राचीन काल में भारत में अनेक मनोरंजन के साधन थे l जैसे रामलीला मंडली, नाटक मंडली, नौटंकी, मदारियों के खेल इत्यादि अनेक मनोरंजन के साधन हुआ करते थे यह सब साधन मानव के लिए ज्ञानवर्धक और ...

ज्ञान का महत्व

शस्त्र का ज्ञान तभी तक काम आएगा जब तक वह चल रहा है लेकिन ‘शास्त्र’ का ज्ञान कभी रुकता नहीं चाणक्य ने उक्त कथन ठीक ही कहा है ! मैं ऐसा मानता हूं कि एक सामान्य जिंदगी जीने के लिए रोटी कपड़ा और मकान के अलावा अगर किसी चीज की सबसे ज्यादा जरूरत होती है ...